Shadi ke Liye Razi Karne ka Wazifa In Islam

Shadi ke Liye Razi Karne ka Wazifa In Islam
Shadi ke Liye Razi Karne ka Wazifa In Islam

Shadi ke Liye Razi Karne ka Wazifa In Islam , ” अल्लाह की मां ग़ज़री से कुछ भी इंसान के जीवन खुसियान आ sakti, kisi भी तार k takleef हो अगर है कि की रीमट हो है कि हर जाल में वह भी ख़ुसोन को पा सक्ता। Uski rehmo कारम से कुछ भी कुछ कुछ भी हैल हो सक्से है। अपके ताबेर गरीब सितारे से ही अपने आप को चुम्नेगे या अपी नियाट साफ हो, निको जीवन का दोसों से आग्रह किया गया है कि पाई की ची हर इंसान को होती है। अगार किससी से उल्फ़ट की है या पाना चुते हो लेकिन कुछ संस्या है, का प्रयोग करें अल्लाह की बंदगी से दरवाजा कया जायेगा है, पाले की लीए एक अजीज तर्का है, शद् की लीये रजी कार्न का वाजीफा, जीस्की मेदद से अपका या अप्की खाफा जनेसर एपिस निकशा के लिए रजी हो जाए या आप अपना तमम जीवन अपके थेआब से निकलगा। अगर आप पाक-सर आई इल्म की नवाजिया हैं तो एपीके सर्फ मोल्वी जी से सांकेरे की जारतोरत है। पिचले काफी दीक्षो तो प्रकेर के वाजिफा दिये जाये हैं ताआकी, कोई भी कुछ भी नहीं प्रकर के फुरकट से ना गुज़रे।

कई बार ऐसा होता है कि दोनों लड़की और लड़के विवाह के लिए तैयार हैं, लेकिन समाज के विचार, परिवार के सदस्यों और माता-पिता के खिलाफ होने के कारण वे पीड़ित हैं और विवाह नहीं मिल रहा है या देरी नहीं हुई है। लेकिन अगर आप दूसरी ओर अपनी पसंद से शादी करना चाहते हैं तो आप अपने परिवार के लोगों के आशीर्वाद की तलाश कर रहे हैं तो आप पवित्र वाजिफा के कार्यान्वयन में शामिल हो सकते हैं, जो हम उन लोगों को प्रदान करते हैं जो वास्तविक आवश्यकता वाले हैं।

अगार मीन बिवई हो राज़ी है कि क्या करेगे, सब बंदी से गरीब हो जाए है, इस्किए लीये वाजिफा पाधने की जारत है जेज शद्दात के साथ आला आला बाटो का मादनेजर रखे हुए लफ्ज़ो को बोलना: –

वजीफा को हम्शे पाक नित से पद
वजीफा को पूजा समय एक चिराग का प्रकाश राखी
इनके लाफोज़ की ख़राब केसी या को बिल्कुल भी न हो
फख्त लाईफोजो को नयम से 7 बोर 7 रोज़ मिल गया हो गया, कोई भी कामरे में
हम अप्को व वाजीफा बाबात कार्ने के शब्द देगे, है तारह ​​खुलले में बटाने ऐयार लॉग इस्की मादद से गुनाह कर्ने लैग जाते है, इस्की इबदत भी खातो हो सक्ति, फिर ना किसी खावा दूरा हो पड़े। लेकिन अगर आप इस तरह के लिए मक़सद के लिए इस्तमाल करना है तो बिनी किसकी फिकर की भावनाएं हैं

Allah ki ehmat guzari se kisi bhi insan ke jeevan khusiyaan aa sakti, kisi bhi tarah k takleef ho agar maalik ki rehmat ho th har nek insan abhi khusiyon ko paa sakta. Uski rehmo karam se kisi ko bhi kuch bhi haasil ho sakta hai. Apke Taabir poori tarah se apke kadam chumenge agar apki niyat saaf ho, Nikaah jeevan ka doosra padav hai jise paane ki chaah har insaan ko hoti hai. Agar kisi se Ulfat ki hai or use pana chahte ho lekin kuch samsya hai th use Allah ki Bandagi se door kiya ja sakta hai , use paane k liye ek ajeej tarkia hai Shadi k liye razi karne ka Wazifa, jiski madad se apka ya apki Khafa Janesaar apse nikah k liye razi ho jaega or aap apna tamaam jeevan apke hisaab se niklega. Agar aap is paak-saar Ilm ki Nawaaziah chahte hai th apko sirf Molvi ji se samprak karne ki jarrorat hai. Peechle kaafi dshako se is prakaar ke Wazifa diye ja rahe hai taaki, koi bhi kisis bhi prakar ke Furqat se na guzre.

Many times it happen that both girl and boy are ready for marriage but because of against society thoughts, family members and parent are against it is suffering and marriage is not getting or being delayed. But if you want to marry with your own choice on the other hand you are looking for blessings of your family people then you can do get into the implementation of holy Wazifa which we provide to those who are in real need.

Agar miyan biwi ho raazi th kaji kya karega, sab bandagi se poora ho jata hai, iske liye Wazifa padhne ki jarorat hai jise shiddat k saath niche likhi baato ka maddenazar rakhte hue Lafzo ko bolna :-

  1. Wazifa ko humesha paak niyat se padhe
  2. Wazifa ko padhte samay Ek Chiraag ka prakash rakhe
  3. Inke Lafzo ki khabar kisi or ko bilkul bhi na ho
  4. Faqt lafzo ko niyam se 7 baar 7 roz tak padhna hoga, kisi ekaant kamre mein

Hum apko ye Wazifa baatchit karne k baat de denge, is tarah khulle mein batane aiyaar log iski madad se gunaah karne lag jate hai, iski ibadat bhi khatm ho sakti, fir na koi khawab poora ho paega. Lekin agar aap ise kisi paak maksad k liye istemal karna chahte hai th bina kisi fikar k humse maang sakte hai

Be the first to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.


*